No icon

Reduce cholesterol and keep BP in control Kabuli gram

कलेस्ट्रॉल के सात-सात बीपी को भी रखता है कंट्रोल काबुली चना

नई दिल्ली। छोले भटूरे और छोले चावल हम में से कई लोगों की पसंदीदा डिश है। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि काबुली चना जिसे हम छोला या सफेद चना भी कहते हैं न सिर्फ खाने में टेस्टी होता है बल्कि हमारी सेहत के लिए भी कई तरह से फायदेमंद है। जी हां, काबुली चना, प्रोटीन का सबसे बढ़िया स्रोत है। इसमें दूसरे दालों की तुलना में 12 से 15 ग्राम प्रोटीन होता है। साथ ही यह कई तरह की बीमारियों से भी हमें बचाता है... अनीमिया से बचाव 
चना आयरन का एक बहुत अच्छा स्रोत है। इसके सेवन से अनीमिया की समस्या नहीं होती इसलिए डॉक्टर्स बच्चों में खून की कमी होने पर, प्रेग्नेंट महिलाओं को और ब्रेस्टफीडिंग लेडीज को चना खाने की सलाह देते हैं। 

मजबूत होते हैं दांत 
चने में लगभग 28 प्रतिशत फॉस्फॉरस होता है। यह शरीर में नई कोशिकाएं बनाने में सहायक है। यह हीमॉग्लोबीन की मात्रा बढ़ाकर किडनी में मौजूद विषाक्त पदार्थों को साफ करता है। इसलिए किडनी की सुरक्षा के लिए चने का सेवन लाभकारी है। इसके अलावा इसमें नमक डालकर खाने से दांत मजबूत होते हैं। इसमें डाइयूरेटिक गुण होते हैं। ये यूरिन प्रॉब्लम से बचाने में मदद करता है। 

वजन घटाता है 
चना फाइबर का पावर हाउस है। यह भूख को कंट्रोल करता है और इसे खाने के काफी समय बाद भी आपका एनर्जी लेवल हाई रहता है जिससे आपको वजन घटाने में काफी मदद मिलती है। इसे स्प्राउट बनाकर खाने से काफी फायदा मिलता है। कलेस्ट्रॉल घटाए 
चना शरीर में कलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक होता है। यह आंत में पित्त के साथ मिलकर खून में बढ़े हुए कलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। इसकी वजह से हार्ट डिजीज का खतरा कम होता है। 

ब्लड प्रेशर करे कंट्रोल 
हाई ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए चना खाना बहुत लाभदायक होता है। चने में मौजूद पोटैशियम और मैग्नीशियम की शरीर में ब्लड प्रेशर पर कंट्रोल रखने में मदद करते हैं। 

 

 

 

पाचन शक्ति बढ़ाए 
चना पाचन और आंत को ठीक रखकर पाचन तंत्र में होने वाले विकारों को दूर करने में मदद करता है। चने में फीटो-न्यूट्रिएंट, उच्च प्रोटीन और विटमिन और मिनरल भरपूर मात्रा में होते हैं। जो कब्ज, ऐसिडिटी, अपच आदि आंत में होने वाली समस्याओं से बचाता है। 

मजबूत मसल्स 
जिम जाने वालों के लिए तो काबुली चना बहुत ही फायदेमंद है। ये प्रोटीन का मुख्य स्रोत होता है। इससे मसल्स मजबूत बनते हैं और इसे सलाद में मिक्स करके खाएं। 

कैसा चना खाएं 
वैसे तो काबुली चना बहुत फायदेमंद है लेकिन इसका मतलब यह बिलकुल नहीं कि आप इसमें ढेर सारे मसाले और मिर्च डालकर इसे खाएंगे तब भी यह फायदेमंद होगा। चने को खाने का फायदा तभी मिलेगा जब आप इसे कम मसालों के साथ सलाद की तरह खाएं। 

 

Comment As:

Comment (0)